Effect of date of birth on health from astrological point of view - Best Astrologer Sahu Ji

ज्योतिष दृष्टि से जन्मतिथि का स्वास्थ्य पर प्रभाव

विभिन्न पहलुओं का पूर्वानुमान करता है। ज्योतिष विज्ञान मानता है कि व्यक्ति की जन्मतिथि उसके जीवन में कई प्रमुख परिणामों का कारण बनती है, जिसमें स्वास्थ्य भी शामिल है। भारत के प्रसिद्ध ज्योतिषी मनोज साहू जी के अनुसार जन्मतिथि के अनुसार व्यक्ति के स्वास्थ्य पर विभिन्न ग्रहों का प्रभाव होता है। इस लेख में, हम जानेंगे कि ज्योतिष दृष्टि से आपकी जन्मतिथि आपके स्वास्थ्य पर कैसे प्रभाव डालती है।

ग्रहों का स्वास्थ्य पर प्रभाव

  1. सूर्य
    • सूर्य जीवन के स्रोत को प्रकाशित करता है। यह व्यक्ति के स्वास्थ्य और ऊर्जा को प्रभावित करता है। सूर्य का स्थान उसके स्वास्थ्य और ऊर्जा को निर्धारित करता है।
  2. चंद्र :
    • चंद्रमा मन को प्रभावित करता है। जन्मतिथि में चंद्र का स्थान व्यक्ति की भावनाओं, मानसिक स्थिति और आत्मिक विकास को निर्धारित करता है।
  3. मंगल
    • मंगल ऊर्जा और शक्ति का प्रतीक है। जन्मतिथि में मंगल का स्थान व्यक्ति के शारीरिक और मानसिक संतुलन को प्रभावित करता है।
  4. बृहस्पति
    • बृहस्पति विवेक और ज्ञान का प्रतीक है। जन्मतिथि में बृहस्पति का स्थान व्यक्ति की बुद्धि, विद्या और स्वास्थ्य को प्रभावित करता है।
  5. शुक्र
    • शुक्र श्रृंगार और सुंदरता का प्रतीक है। जन्मतिथि में शुक्र का स्थान व्यक्ति के शारीरिक संबंधों, सुंदरता के लिए उनकी प्राथमिकताओं को प्रभावित करता है।
  6. शनि
    • शनि कठि नाईयों और अनुभवों का प्रतीक है। जन्मतिथि में शनि का स्थान व्यक्ति की दृढ़ता, संघर्ष क्षमता और स्वास्थ्य को प्रभावित करता है।

जन्मतिथि का स्वास्थ्य पर प्रभाव

  1. जन्म तिथि में सूर्य का स्थान:
    • जन्म तिथि में सूर्य के स्थान से व्यक्ति के शारीरिक स्वास्थ्य को प्रभावित किया जा सकता है। शारीरिक कमजोरी या स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं हो सकती हैं।
  2. जन्म तिथि में चंद्र का स्थान:
    • चंद्रमा के स्थान से मानसिक स्वास्थ्य पर प्रभाव पड़ सकता है। यह व्यक्ति की मनोवैज्ञानिक स्थिति को प्रभावित करता है और उसे मानसिक रोगों से ग्रस्त कर सकता है।
  3. जन्म तिथि में मंगल का स्थान:
    • मंगल के स्थान से शारीरिक ऊर्जा और शक्ति को प्रभावित किया जा सकता है। यह व्यक्ति को शारीरिक कमजोरी या शारीरिक संबंधी समस्याओं से प्रभावित कर सकता है।
  4. जन्म तिथि में बृहस्पति का स्थान:
    • बृहस्पति के स्थान से व्यक्ति की बुद्धि और ज्ञान को प्रभावित किया जा सकता है। यह व्यक्ति को मानसिक और बुद्धि संबंधी समस्याओं से प्रभावित कर सकता है।
  5. जन्म तिथि में शुक्र का स्थान:
    • शुक्र के स्थान से व्यक्ति की सुंदरता और शारीरिक संबंधों को प्रभावित किया जा सकता है। यह व्यक्ति को रोगों से ग्रस्त कर सकता है और उसकी सुंदरता पर भी प्रभाव डाल सकता है।
  6. जन्म तिथि में शनि का स्थान:
    • शनि के स्थान से व्यक्ति की दृढ़ता और संघर्ष क्षमता को प्रभावित किया जा सकता है। यह व्यक्ति को ऊर्जा की कमी, थकान और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं से प्रभावित कर सकता है।

निष्कर्ष

ज्योतिष विज्ञान के अनुसार, व्यक्ति की जन्मतिथि उसके स्वास्थ्य पर विभिन्न ग्रहों का प्रभाव डालती है। इसके अलावा, जन्मतिथि के अनुसार उनकी शारीरिक, मानसिक और आत्मिक स्वास्थ्य की स्थिति को भी निर्धारित किया जा सकता है। साहू जी की दृष्टि से, यह ज्ञान लाभकारी हो सकता है ताकि व्यक्ति अपने स्वास्थ्य को संतुलित रख सके और समस्याओं का समाधान कर सके। इसलिए, ज्योतिष विज्ञान का अध्ययन और उसके अनुसार उपाय अपनाना व्यक्ति के स्वास्थ्य को सुधारने में मदद कर सकता है।

ज्योतिषी साहू जी
परामर्श के लिए संपर्क करे : +91 – 8656979221
Scroll to Top